मार्केट बनाम त्वरित निष्पादन

Market vs. Instant Execution

फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग में ऑर्डर्स का निष्पादन करना एक महत्वपूर्ण चरण है। सरल शब्दों में कहें तो, ऑर्डर का निष्पादन उस मूल्य पर होता है जिससे आप किसी विशेष मुद्रा को खरीदते/बेचते हैं। निष्पादन के दो प्रकार हैं: मार्केट और त्वरित। पहले मामले में, आप ब्रोकर को बताते हैं कि आप वर्तमान कीमत जो भी है उस पर खरीदने के लिए तैयार हैं। दूसरे मामले में, आप अपनी तय की गई कीमत पर खरीदना चाहते हैं। चलिए इन प्रकारों को विस्तार में जानें।

मार्केट बनाम त्वरित निष्पादन: इनमे क्या अंतर हैं?

त्वरित निष्पादन, ऑर्डर निष्पादन का एक तरीका है जहां ऑर्डर्स को निर्दिष्ट मूल्य पर ही निष्पादित किया जाता है या फिर ऑर्डर देने की प्रक्रिया के दौरान तेज मूल्य परिवर्तनों के कारण निष्पादित नहीं भी किया जाता। एक निश्चित मूल्य पर ट्रेडर की सहमति के बिना ऑर्डर खोला/बंद नहीं किया जाएगा। दूसरे शब्दों में कहे तो, पुनरावृत्त कोटेशन की आवश्यकता हो सकती हैं। शुरुआती ट्रेडर्स आमतौर पर इस निष्पादन प्रकार को पसंद करते हैं, क्यूंकि उनके लिए सटीक निष्पादन महत्वपूर्ण है।

मार्केट निष्पादन त्वरित निष्पादन के विपरीत है। यह तेज़ है और इसमें गारंटीकृत ऑर्डर निष्पादन होता है। यहाँ मौजूदा मार्केट मूल्य पर ऑर्डर खोले जाते हैं। यह ध्यान दे कि मार्केट में उतार-चढ़ाव के दौरान कीमत में अंतर आ सकता है। इसका मतलब यह है की, ऑर्डर निष्पादित किया जाएगा लेकिन एक नई कीमत पर। मार्केट कीमत निर्दिष्ट की गई कीमत से कम या अधिक हो सकती है। हालांकि, ट्रेडर को हमेशा लाभ के साथ ऑर्डर बंद करने का अवसर मिलता है। जिन ट्रेडर्स की प्राथमिकता पोजीशन ओपन करने की होती है, वे मार्केट निष्पादन को चुनते हैं।

यह स्पष्ट करने के लिए की प्रत्येक तरीका किस सिद्धांत पर काम करता है, आइए निम्नलिखित उदाहरण का उपयोग करके ऑर्डर निष्पादन की क्रियाविधि जाने: एक ट्रेडर EUR/USD खरीदना चाहता है और खरीदने के लिए पोजीशन ओपन करता है। प्रोसेस के दौरान मूल्य बदल सकता है - घट सकता है या बढ़ सकता है। त्वरित निष्पादन पर, ब्रोकर पुनरावृत्त कोटेशन (फिरसे अनुरोध) भेजता है। अब ट्रेडर यह तय करता है कि वह इस मूल्य पर मुद्रा खरीदना चाहता है या नहीं। मार्केट निष्पादन में, ट्रेडर की पुष्टि के बिना ही बदले हुए मूल्य पर तुरंत निष्पादन किया जाता है।

Justforex अपने ग्राहकों को ट्रेडिंग प्रक्रिया को सुखद और आरामदायक बनाने के लिए ऑर्डर्स का मार्केट निष्पादन प्रदान करता है। इस प्रकार के निष्पादन से ट्रेडर को ट्रेडिंग की प्रक्रिया को नियंत्रित करने और उसी पल में निर्णय लेने की अनुमति मिलती है, क्यूंकि हर सेकंड मायने रखता है, और विलंब से होते नुकसान की कीमत बहुत है।

मार्केट निष्पादन के सभी लाभ इस तुलना टेबल में पाए जा सकते हैं:

त्वरित निष्पादन:

  • ऑर्डर के निष्पादन में 3–5 सेकंड लगते हैं
  • पुनरावृत्त कोटेशन
  • निष्पादन मार्केट पर निर्भर करता है
  • डीलर के माध्यम से मार्केट तक पहुंच
  • ब्रोकर द्वारा कीमत प्रदान की जाती है
  • बेहतर कीमत पर ऑर्डर खोलने का कोई अवसर नहीं
  • ट्रेडिंग रणनीतियां (स्केल्पिंग, हेजिंग, समाचार ट्रेडिंग, एक्सपर्ट एडवाइजर) सीमित हैं

मार्केट निष्पादन:

  • ऑर्डर का निष्पादन एक सेकंड से भी कम में होता है
  • कोई पुनरावृत्त कोटेशन नहीं
  • निष्पादन होने की गारंटी है
  • मार्केट तक सीधी पहुंच
  • कीमत सीधे मार्केट से प्रदान की जाती है
  • बेहतर कीमत पर ऑर्डर खोलने का अवसर है
  • ट्रेडिंग रणनीतियां (स्केल्पिंग, हेजिंग, समाचार ट्रेडिंग, एक्सपर्ट एडवाइजर) पर कोई सीमा नहीं
पिछले लेख
सभी लेख
भारत में फोरेक्स ट्रेडिंग करने के लिए गाइड
जानें कि भारत में फोरेक्स मार्केट में ट्रेडिंग कैसे शुरू की जाती है। कर्रेंसीज को ट्रेड करने के लिए सबसे अच्छा ब्रोकर और सबसे अच्छा समय चुनें।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
क्या फॉरेक्स निवेश के लायक है?
क्या यह फॉरेक्स ट्रेडिंग शामिल होने लायक है? फॉरेक्स ट्रेड के लाभों के बारे में जानें और पता करें कि क्या यह आपके समय के लायक है।के लिए इस लेख को पढ़ें।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीदें और बेचें5 तरीके
क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग के लिए स्टेप-बाय-स्टेप गाइड। नुकसान से कैसे बचें? कौन से कोइन्स खरीदें? क्रिप्टोकरेंसी के फायदे और जोखिम।मार्केट ट्रेडिंग कहां से सीखें?
ज़्यादा जानकारी पढ़ें