फ़ॉरेक्स क्या होता है? मुख्य भागीदार

फ़ॉरेक्स (विदेशी मुद्रा बाज़ार या मुद्रा बाज़ार) करेंसी एक्सचेंज का एक नया और विकासशील बाज़ार है, जिसका दैनिक कारोबार दुनिया के सभी वित्तीय बाज़ारों से ज़्यादा है। बैंक ऑफ़ इंटरनेशनल सेटलमेंट्स के अनुसार, 2010 में अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंजों का दैनिक कारोबार 300 बिलियन अमरीकी डॉलर था, जबकि इसके मुकाबले फ़ॉरेक्स का दैनिक कारोबार 4 ट्रिलियन अमरीकी डॉलर तक पहुँच गया था।

विदेशी मुद्रा बाज़ार या फ़ॉरेक्स पर किए गए सभी कार्यों को कई समूहों में बाँटा जा सकता है: स्पेक्युलेटिव, हेजिंग, ट्रेडिंग और विनियमन।

विदेशी मुद्रा का इतिहास: दुनिया भर में सबसे बड़ा वित्तीय बाज़ार कैसे तैयार हुआ?

मुद्रा विनिमय या करेंसी एक्सचेंज के बाज़ार ने अपना इतिहास 1971 में स्वर्ण मानक निरस्तीकरण से शुरू किया। अमेरिका के 37 वें राष्ट्रपति, रिचर्ड निक्सन, ने इसका आरंभ किया था। स्वर्ण मानक निरस्तीकरण के कारण, स्थिर मुद्रा दरों की प्रणाली नष्ट हो गई। दिसंबर 1971 में स्मिथसोनियन समझौते के परिणामस्वरूप, उन मुद्रा जोड़ियों में 4.5% तक के निरंतर उतार-चढ़ाव की अनुमति थी जिनमें USD शामिल था (जिन मुद्रा जोड़ियों में USD शामिल नहीं था उनके लिए यह 9% था)। 8 जनवरी, 1976 को किंग्स्टन (जमैका) में एक नई मुद्रा प्रणाली के सिद्धांतों पर निर्णय लिया गया। आई.एम.एफ़. के सभी प्रतिभागी-सदस्यों ने सोने की आधिकारिक कीमत और मुद्रा दरों में बदलाव पर सीमा तय करने से इनकार कर दिया। मुद्रा बाज़ार का विकास इस निर्णय से शुरू हुआ।

विदेशी मुद्रा बाज़ार या फ़ॉरेक्स पर किए गए सभी कार्यों को कई समूहों में बाँटा जा सकता है: स्पेक्युलेटिव, हेजिंग, ट्रेडिंग और विनियमन।

शेयर बाज़ार के विपरीत, फ़ॉरेक्स एक ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) बाज़ार है, जिसमें काम के तय ट्रेडिंग घंटे और ट्रेडिंग की एक ख़ास जगह नहीं है। ऐसा इसलिए है क्योंकि सभी लेनदेनों का प्रमुख वॉल्यम विश्व के मुख्य बैंकों के बीच होता है। चूंकि सभी बैंक ग्रह के चारों ओर अलग-अलग स्थानों में उपस्थित हैं, संचालन दिन के 24 घंटे चालू रहता है (बैंक की छुट्टियों के सिवाय)।

फ़ॉरेक्स प्रतिभागी – बाज़ार पर कौन राज करता है?

विदेशी मुद्रा बाज़ार के प्रमुख भागीदार दुनिया भर के बैंक (वाणिज्यिक और केंद्रीय) हैं। लेकिन, विदेशी आर्थिक गतिविधियों, निवेश और हेज फंड में लिप्त बड़ी कंपनियां, ब्रोकरेज कंपनियां, डीलिंग सेंटर और व्यक्ति भी इसमें शामिल हैं।

Forex major participants

वाणिज्यिक बैंक

ट्रेडिंग में वाणिज्यिक बैंकों का प्रमुख वॉल्यूम होता है। वे व्यक्तियों और कानूनी संस्थाओं से डिपॉज़िट लेने, अपने लक्ष्यों के अनुसार काम करने, और बाद में मालिकों को पैसे की वापसी के संचालन में शामिल होते हैं।

केंद्रीय बैंक

केंद्रीय बैंकों का मुख्य उद्देश्य अपने देश के सरकारी और वाणिज्यिक बैंकों को वित्तीय सेवाएं प्रदान करना है।

उनके मुख्य कार्य हैं:
  • मुद्रा आपूर्ति और विनिमय दरों का विनियमन;
  • राष्ट्रीय मुद्रा के नोटों के जारी किए जाने पर नियंत्रण;
  • वाणिज्यिक बैंकों को कर्ज़ देना, उनसे डिपॉज़िट स्वीकार करना और उनकी गतिविधियों पर नियंत्रण रखना;
  • देश के ऋण का प्रबंधन;
  • देश के स्वर्ण मुद्रा भंडार को बनाए रखना;
  • अन्य केंद्रीय बैंकों के साथ मेलजोल रखना।

आप इस लेख में केंद्रीय बैंकों और उनके कार्यों के बारे में अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं।

फ़ॉरेक्स लोगों के बीच दिन-प्रतिदिन इसलिए लोकप्रिय होता जा रहा है क्योंकि कई लोग दरों में उतार-चढ़ाव का फ़ायदा उठाना चाहते हैं।

बड़ी कंपनियां

विदेशी आर्थिक गतिविधियों में संलग्न बड़ी कंपनियां फ़ॉरेक्स का इस्तेमाल राष्ट्रीय मुद्रा को विदेशी मुद्रा से बदलने के लिए और अपने अल्पकालिक डिपॉज़िट आगे बढ़ाने, उनका संचालन करने, और अपने भविष्य के सौदों को हेज करने के लिए करते हैं। ये कंपनियां वाणिज्यिक बैंकों की सेवाओं का उपयोग करती हैं क्योंकि उनके पास मुद्रा विनिमय बाज़ार तक सीधी पहुंच नहीं होती है।

निवेश और हेज फ़ंड्स

ऐसी कंपनियाँ जिनके पास विदेशी एसेट्स होते हैं, वे निवेशक के धन का अलग-अलग प्रतिभूतियों में निवेश करती हैं।

विदेशी मुद्रा कंपनियां (ब्रोकर और डीलिंग केंद्र)

ये ऐसे एजेंट हैं जो ख़रीदारों और विक्रेताओं को विनिमय लेनदेन करने के लिए एक साथ लाते हैं। वे अपने काम के लिए या तो एक स्प्रेड जोड़कर या प्रति लॉट कमीशन लेकर शुल्क लेते हैं।

व्यक्ति

व्यक्ति वे हैं जो मुद्रा विनिमय के गैर-वाणिज्यिक संचालन में शामिल रहते हैं, जैसे, धन हस्तांतरण, विदेशी देशों का दौरा करते समय मुद्रा विनिमय, आदि। व्यक्तियों को 1986 में जाकर मुनाफ़े के लिए पूर्वानुमान उद्देश्यों के लिए विदेशी मुद्रा का उपयोग करने का मौका मिला। व्यक्ति अपने आप फ़ॉरेक्स कंपनियों के माध्यम से मुनाफ़े के लिए पूर्वानुमान संचालनों में हिस्सा ले सकते हैं।

फ़ॉरेक्स लोगों के बीच दिन-प्रतिदिन इसलिए लोकप्रिय होता जा रहा है क्योंकि कई लोग दरों में उतार-चढ़ाव का फ़ायदा उठाना चाहते हैं। लेकिन, इससे पहले कि आप काम करना शुरू करें, आपको बुनियादी ज्ञान हासिल करना होगा जो इस काम में आपकी मदद करेगा।

हमें उम्मीद है कि इस लेख से आपको फ़ॉरेक्स बाज़ार के बारे में कुछ जानकारी हासिल करने में मदद मिली होगी। अब, आप विदेशी मुद्रा बाज़ार की अपनी समझ को बेहतर करने के लिए अन्य फ़ॉरेक्स लेख और अक्सर पूछे गए सवाल पढ़ सकते हैं।

लेखक: Justforex, 23.10.2016

पिछले लेख
सभी लेख
भारत में फोरेक्स ट्रेडिंग करने के लिए गाइड
जानें कि भारत में फोरेक्स मार्केट में ट्रेडिंग कैसे शुरू की जाती है। कर्रेंसीज को ट्रेड करने के लिए सबसे अच्छा ब्रोकर और सबसे अच्छा समय चुनें।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
क्या फॉरेक्स निवेश के लायक है?
क्या यह फॉरेक्स ट्रेडिंग शामिल होने लायक है? फॉरेक्स ट्रेड के लाभों के बारे में जानें और पता करें कि क्या यह आपके समय के लायक है।के लिए इस लेख को पढ़ें।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीदें और बेचें5 तरीके
क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग के लिए स्टेप-बाय-स्टेप गाइड। नुकसान से कैसे बचें? कौन से कोइन्स खरीदें? क्रिप्टोकरेंसी के फायदे और जोखिम।मार्केट ट्रेडिंग कहां से सीखें?
ज़्यादा जानकारी पढ़ें